सैफ अली खान से निकाह ना रचाने और ना ही सात फेरे लेने के बाद भी करीना कपूर बन गई सैफ अली खान की बेगम

बता दे शादी एक ऐसा रिश्ता है जो प्यार और विश्वास पर टिका होता है. वहीं अगर दो अलग-अलग धर्म के इंसान लाइफ पार्टनर बनने के बारे में सोचते हैं तो उनका यह सफर काफी ज्यादा मुश्किलों से भरा होता है. क्योंकि हम जिस समाज में रहते हैं उस समाज में धर्म को काफी ज्यादा महत्व दिया जाता है समाज की मानें तो केवल वह तो इंसान लाइफ पार्टनर की तरह साथ रह सकते हैं जो एक धर्म से ताल्लुक रखते हो धर्म के लोग है.और ऐसे में पेरेंट्स को मनाना भी काफी ज्यादा मुश्किल हो जाता है. ऐसे में लड़का और लड़की दोनों एक दूसरे के धर्म के अनुसार विवाह के बंधन में बंधते हैं. लेकिन हमारी हिंदी सिनेमा जगत की एक ऐसी जोड़ी है जिन्होंने इससे बिल्कुल विपरीत किया. उस जोड़ी का नाम है सैफ अली खान और करीना कपूर. बता दे इन दोनों ने इस एक दूसरे के धर्म के अनुसार विवाह नहीं रचाया जो कि समाज के इंस्पिरेशन का काम करती है.

दरअसल बात कुछ ऐसी है कि बॉलीवुड की बेबो और नवाब खान ना तो सात फेरे लिए और ना ही निकाह पढ़ाया फिर भी एक दूसरे के लाइफ पार्टनर बन गए. दरअसल इन दोनों ने कोर्ट मैरिज की थी. जिससे कि दोनों के धर्मों को कोई ठेस ना पहुंचे. बता दे कोर्ट मैरिज करने के बाद इन दोनों ने एक दूसरे के साथ रिंग सेरेमनी की थी और एक ग्रैंड रिसेप्शन पार्टी भी दी थी. इस बात का खुलासा अभिनेत्री के सबसे करीबी मित्र फैशन डिजाइनर मनीष मल्होत्रा द्वारा किया गया था. वहीं करीना कपूर के पिता ने कहा था कि सैफ अली खान और करीना कपूर को शादी की बधाइयां दे. हम लोग इस बात के लिए खुश है कि दोनों बिना किसी धर्म परिवर्तन के एक दूसरे के लाइफ पार्टनर बन गए. यहां पर दो प्रेमियों ने शादी कर ली है और यह दोनों बहुत ही प्यारे हैं.

अलग-अलग धर्म से ताल्लुक रखने के बाद भी अभिनेता और अभिनेत्री ने जैसे एक दूसरे के साथ शादी की वह काबिले तारीफ है और समाज के लिए एक मिसाल भी है. उनका इस तरह से शादी करना यह बात जाहिर करता है कि इस दुनिया में दिल का रिश्ता सबसे बड़ा है उस से बढ़कर कुछ भी नहीं. आज यह जोड़ी दो बच्चों के माता-पिता बन चुके हैं. और दोनों के बीच काफी ज्यादा प्यार और बॉन्डिंग देखने को मिल जाती है. आज भी इन दोनों के बीच का प्यार वैसे ही बरकरार है.

जानकारी के लिए बता दें जब 2 लोगों को एक साथ रहना होता है तो उनको समाज के रीति रिवाज के हिसाब से एक दूसरे के साथ विवाह रचाना होता है. समाज द्वारा बनाया गया यह नियम आपको एक नए रिश्ते में बाद जरूर देता है लेकिन वह इस रिश्ते में प्यार उत्पन्न नहीं कर सकता. अपनी इस रिश्ते को बरकरार रखने के लिए दोनों पार्टनर को इसमें प्यार और विश्वास डालना पड़ता है लेकिन वक्त के साथ दोनों के बीच का यह प्यार फीका होता चला जाता है ऐसे में अगर देखें तो बॉलीवुड की बेबो और नवाब खान के बीच का प्यार आज भी वैसे ही बरकरार है क्योंकि इनका रिश्ता समाज के द्वारा नहीं बल्कि प्यार के द्वारा बंधा हुआ है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Releated

Secrets about Meal in Budget That Nobody Will Tell You.

It’s a well-known fact that gobbling on a tight spending plan regularly winds up in eating a ton of handled food. Products of the soil, particularly in case they’re natural, are more costly than most food you’ll find in a pack. Eating on a careful spending plan doesn’t need to leave you bound to generally […]